International

बोलने की आजादी के लिए संघर्ष करने वालों को नोबेल शांति पुरस्कार

नॉर्वे स्थित नोबेल समिति की अध्यक्ष बेरिट रिस-एंडरसन ने कहा, ‘‘फ़िलीपीन्स की मारिया रेसा और रूस के दिमित्री मुराटोव ऐसी दुनिया के सभी पत्रकारों के प्रतिनिधि हैं, जिसमें लोकतंत्र और प्रेस की स्वतंत्रता को लगातार प्रतिकूल परिस्थितियों का सामना करना पड़ रहा है।’’