अमेरिका पर भड़का फ्रांस, बोला निशाने पर चीन था, छल हमसे किया

फ्रांस और ऑस्ट्रेलिया के बीच डीजल पनडुब्बियों के निर्माण के लिए करीब 100 अरब डॉलर का सौदा हुआ था। अमेरिका, ब्रिटेन और आस्ट्रेलिया के बीच हुए गठबंधन से यह रद्द हो गया। इससे चीन से ज्यादा फ्रांस तिलमिला उठा है।

AUKUS से ड्रैगन बौखलाया, व्हाइट हाउस बोला-शक्ति संतुलन जरूरी

चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता झाओ लिजियान ने कहा, ‘‘अमेरिका, ब्रिटेन और आस्ट्रेलिया परमाणु ऊर्जा चालित पनडुब्बियों में सहयोग कर रहे हैं जो क्षेत्रीय शांति एवं स्थिरता को काफी कमजोर कर देगा।

हिंद प्रशांत क्षेत्र में चीन की ताकत को जवाब देने के लिए आया AUKUS

ऑकस की पहली बड़ी पहल के तहत अमेरिका और ब्रिटेन की मदद से ऑस्ट्रेलिया परमाणु ऊर्जा से चलने वाली पनडुब्बियों का एक बेड़ा बनाएगा, जिसका मकसद हिंद-प्रशांत क्षेत्र में स्थिरता को बढ़ावा देना है।