Farm To Job: कभी ‘जी हुज़ूरी न करना’ था शान, आज उसको पाने का है अरमान

Farming, Job crisis

आजादी मिलने के बाद शुरुआती दौर में सत्ता की बागडोर देश के राजनेताओं के हाथ में आने के साथ ही उनके सामने व्यवस्था संचालन और राष्ट्र को एकजुट रखने की बड़ी चुनौती थी।