Mulayam Singh Yadav: सियासती बगिया में छोटे कद के बड़े पेड़ थे मुलायम

Mulayam Singh Yadav Death, Mulayam Singh Yadav Dies,,Medanta Hospital

Interesting stories of Mulayam Singh Yadav, political rise of Netaji In Samajwadi Revolution: एक समाजवादी नेता के रूप में उभरते हुए, मुलायम ने जल्द ही खुद को एक ओबीसी कद्दावर के रूप में स्थापित कर लिया, कांग्रेस द्वारा खाली किए गए राजनीतिक स्थान पर कब्जा कर लिया।

हिंदी दिवस: शुभकामनाएं आईं, पर हिंदी में नहीं; Wishing a great hindi day

आम जिंदगी में कई सज्जन ऐसे भी मिलने लगे हैं जो बड़े गर्व से कहते हैं कि उन्हें हिंदी आती तो है लेकिन वे उतना सहज नहीं है, लिहाजा अंग्रेजी में ही अपनी बात रखेंगे।

Cyrus Mistry: जिनको TATA ने कहा था ‘रतन’, लेकिन फैसलों से बिगड़े रिश्ते

Cyrus Mistry, Cyrus Mistry Death News, Tata Group Former Chairman

Cyrus Mistry Death News, Tata Group Former Chairman and Businessman Cyrus Mistry Death Road Accident in Palghar Mumbai:
साइरस मिस्त्री की मौत उनके प्रभावशाली परिवार के लिए कुछ महीने के भीतर ही दूसरा बड़ा झटका है। उनके पिता और दिग्गज उद्योगपति शापूरजी पलोनजी शापूरजी का करीब दो महीने पहले ही निधन हो गया था।

आजाद बांग्लादेश का वह खूनी किस्सा जब शेख हसीना के पूरे कुनबे का हुआ कत्ल

Bangladesh PM Sheikh Hasina Wajed, Sheikh Hasina Wazed in new delhi

शेख हसीना वाजेद 1975 में देश में हुए तख्तापलट में अपने माता-पिता भाई समेत पूरे परिवार को खो दिया था। यह किसी भी कठोर से कठोर दिल को भी झकझोर देने वाली बड़ी घटना थी, जिसमें उनके परिवार और रिश्तेदार समेत 18 लोगों की नृशंस हत्या कर दी गई। यह कुछ वैसा ही था, जैसा मध्ययुगीन शाही राजघरानों में ताजोतख्त के लिए राजमहलों की चहारदीवारी के भीतर खूनखराबा का दौर चलता था।

Supertech twin towers explosion: एक ट्विन टावर गिरा, कई अब भी खड़े हैं

Twin Towers Demolition, Supertech Twin Towers Demolition, Noida Twin Tower Demolition Date

Noida Twin Towers Demolition, Supertech Twin Towers In Noida Demolished To Cost Nearly Rs 17.55 Crore On August 28: बढ़ता शहरीकरण और कम होती जमीन के बीच शहरों में रहने के लिए छोटी सी जगह पाने में बिल्डरों की जो मनमानी आम जनता को झेलनी पड़ रही है, उसका हिसाब कब होगा, यह एक बड़ा सवाल है।

सेवाधाम आश्रम में दिखा राष्ट्र और समाज के प्रति कर्तव्य और जिम्मेदारियों का संगम

राज्यपाल आरिफ मोहम्मद खान ने कहा कि ये बच्चे यहां सिर्फ बच्चे ही नहीं है, ये कल के हमारे भविष्य है। देश को आगे ले जाने वाले नेता बनेंगे। इनकी प्रतिभा, इनके संस्कार और इनकी सीखने की ललक बताती है कि इनकी दिव्यांगता सिर्फ शारीरिक है, मानसिक रूप से ये बहुत मजबूत और कुशल हैं।

Water Crisis: पेयजल संकट के मुहाने पर भारत, बूंद-बूंद बचाने का आ गया वक्त

water crisis in big cities, ground water level decreasing, drinking water problem: शहरों में बन रहीं गगनचुंबी हाउसिंग सोसायटी में बड़े-बड़े मोटरों और सबमर्सिबल पंपों के उपयोग से भूजल स्तर लगातार नीचे जा रहा है। इससे भविष्य में पीने के लिए भी पानी मिलना मुश्किल होगा।

मेड़बंदी यज्ञ अभियान यात्रा: ओरन से सेवाधाम तक जलयोद्धाओं का ‘जलदार’ मुहिम

यात्रा उत्तर प्रदेश और मध्य प्रदेश के जिलों के सूखा प्रभावित क्षेत्रों से होती हुई उज्जैन तक गई। यात्रा के दौरान जो भी जहां मिला उसे जल संरक्षण के बारे में खेत पर मेड़, मेड़ पर पेड़ के विषय में जानकारी दी गई और जागरूक किया गया।

Farm To Job: कभी ‘जी हुज़ूरी न करना’ था शान, आज उसको पाने का है अरमान

Farming, Job crisis

आजादी मिलने के बाद शुरुआती दौर में सत्ता की बागडोर देश के राजनेताओं के हाथ में आने के साथ ही उनके सामने व्यवस्था संचालन और राष्ट्र को एकजुट रखने की बड़ी चुनौती थी।